Home लाइफ स्टाइल धर्म अध्यात्म त्रिपुरा में 14 एकड़ में बनेगा देश का ऐसा पहला मंदिर, जहां...

त्रिपुरा में 14 एकड़ में बनेगा देश का ऐसा पहला मंदिर, जहां होंगी 51 शक्तिपीठों की रिप्लिका

22
त्रिपुरा

भोपाल। त्रिपुरा के प्रसिद्ध शक्तिपीठ त्रिपुरसुंदरी मंदिर के पास ही दुनिया का पहला ऐसा मंदिर बन रहा है, जिसमें सारे 51 शक्तिपीठों की प्रतिकृति होगी। इसके लिए बड़े स्तर पर तैयारी शुरू हो गई है। त्रिपुरा पर्यटन विभाग ने इसका प्रस्ताव तैयार कर लिया है। त्रिपुरा सुंदरी मंदिर से लगभग 3 किमी दूरी पर उदयपुर-मौजा रोड पर स्थिति फुलकुमारी गांव में लगभग 14.2 एकड़ भूमि आवंटित की गई है। मंदिर निर्माण के लिए तय बजट लगभग 44 करोड़ रुपए का है। त्रिपुरा पर्यटन विभाग के मुताबिक इस मंदिर का निर्माण स्वदेश दर्शन योजना के तहत किया जा रहा है।

देवी पुराण के मुताबिक 108 शक्तिपीठ पूरी दुनिया में हैं, इनमें से 51 शक्तिपीठों को ग्रंथों में मान्यता दी गई है। ये 51 शक्तिपीठ अविभाज्य आर्यावर्त का अंग थे लेकिन अब विभाजन के बाद भारत में कुल 38 शक्तिपीठ हैं, नेपाल में 3, बांग्लादेश में 5, पाकिस्तान में 2 और श्रीलंका-तिब्बत में एक-एक शक्तिपीठ है। भारत में इस समय एक भी ऐसा मंदिर नहीं है, जहां सारे 51 शक्तिपीठों के दर्शन हो सकें। लगभग 8 महीने की प्लानिंग के बाद इसके लिए भूमि आवंटित करके 44 करोड़ के बजट के आवंटन की सिफारिश 15वें फाइनेंस कमिशन को भेज दी गई है।

त्रिपुरा पर्यटन विभाग का अनुमान है कि इस मंदिर के निर्माण के बाद यहां के पर्यटन को काफी बढ़ावा मिलेगा, क्योंकि श्रद्धालुओं को एक ही जगह पर सारे 51 शक्तिपीठों के दर्शन करने का मौका मिल सकेगा। भारत में अभी पं. बंगाल की एक ऐसा राज्य है जहां सबसे ज्यादा 11 शक्तिपीठ हैं। इसके अलावा किसी भी राज्य में 2-3 से ज्यादा शक्तिपीठ नहीं हैं।