Home राज्य छत्तीसगढ़ 40 सालों से इस गांव में पानी की समस्या का नही हुआ...

40 सालों से इस गांव में पानी की समस्या का नही हुआ समाधान, ग्रामीणों ने किया चुनाव बहिष्कार, “पानी दो फिर वोट लो”

288

रवि भूतड़ा

बालोद। गुंडरदेही विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत किलेपार के आश्रित ग्राम खपरी हीरू के ग्रामीण विगत 40 सालों से पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। यहां के ग्रामीण 1 किमी दूरी का सफर तय कर पानी लाते हैं। जिसके चलते इस विधानसभा चुनाव में खपरी हीरू के ग्रामीणों ने “पानी दो वोट लो” कि मांग करात्र हुए चुनाव का बहिष्कार कर दिया हैं। ग्रामीणों का कहना हैं कि इस बार अगर हमारी समस्या का समाधान नही किया गया तो गांव का कोई भी मतदाता किसी भी पार्टी के प्रत्याशी को वोट नही देगा।

40 सालों से इस गांव में पानी की समस्या का नही हुआ समाधान, ग्रामीणों ने किया चुनाव बहिष्कार, "पानी दो फिर वोट लो"

सबसे दिलचस्प बात यह भी हैं कि मतदान को सिर्फ 6 दिन बाकि हैं पर अभी तक इस गांव में कोई भी पार्टी के प्रत्याशी ने कदम नही रखा हैं। चुनाव के समय बड़ी-बड़ी बात कर लुभावनी बाते करने वाले किसी भी प्रत्याशी को इस गांव के ग्रामीणों की समस्या से कोई वास्ता नही हैं। मौजूदा विधायक व पूर्व में रहे विधायकों ने भी ग्रामीणों की इस समस्या से अंजान बने रहे या यू कहे तो सिर्फ आश्वासन के जरिये ही 40 साल निकाल दिए। गौरतलब हो कि किलेपार पंचायत का आश्रित गगांव खपरी हीरू में पानी की मांग 40 वर्षो से की जा रही हैं।

जिसकी तरफ आज तलक शासन-प्रसाशन सहित विधायक, जनप्रतिनिधियों ने ध्यान नही दिया हैं। खासकर विकास की बात करने वाली 15 साल की रमन सरकार ने भी इस तरफ ध्यान नही दिया। ग्राम पंचायत किलेपार के सरपंच शिवप्रसाद साहू ने बताया कि कई बार शासन व प्रशासन से पानी की समस्या से अवगत करा चुके हैं बावजूद किसी ने हमारी समस्या नही सुनी।

गांव खपरी हीरू से लगा एक तालाब हैं जो भी ग्राम पंचायत तवेरा अंतर्गत आता हैं उस तालाब में सिर्फ ग्रामीण नहाने के साथ कपड़े धोते हैं, पर पीने के लिए पानी की समस्या आज तलक बनी हुई हैं। यहां के ग्रामीण 1 किमी दूर पैदल या साइकल से चलकर पीने का पानी लाकर अपनी प्यास बुझा रहे हैं। बता दे कि गांव खपरी हीरू में 650 की जनसंख्या हैं। जिसमें 478 मतदाता हैं।

देखिए वीडियो, क्या कहते हैं ग्रामीण-