Home क्राइम अंबिकापुर में दो दिन में दो हाथियों की मौत, जानिए वजह

अंबिकापुर में दो दिन में दो हाथियों की मौत, जानिए वजह

34
अंबिकापुर

अम्बिकापुर। केरल की घटना के बाद प्रदेश में भी संभवतः ऐसी ही घटना सामने आई है। जिले में दो दिन में दो हाथियों और गर्भ में पल रहे एक बच्चा हाथी की मौत से वन अमले की चिंता बढ़ गई है। आसपास के ग्रामीण भी भयभीत हैं कि हाथियों की हो रही मौत से दल में विचरण कर रहे हाथी आक्रामक होकर हिंसक न हो जाएं। बहरहाल, वन अमला मौत का कारण जानने का प्रयास कर रही है। एक के बाद एक दो हाथियों की हुई मौत से वन अफसरों की परेशानी बढ़ गई है।

सूरजपुर जिले के प्रतापपुर वन परिक्षेत्र के गणेशपुर जंगल मे मंगलवार की सुबह जिस स्थान पर गर्भवती हथिनी की मौत हुई थी वहीं एक अन्य हाथी के मारे जाने से वन अमले में हड़कम्प मच गया है। घटनास्थल के नजदीक हाथियों की मौजूदगी के कारण हाथी के शव तक टीम नहीं पहुंच सकी है।

प्यारे हाथी का दल जिसमें 17-18 हाथी शामिल हैं, बीती रात इसमें से फिर एक और हाथी की मौत हो गई है। आज हाथी का शव उसी स्थान पर मिला है, जहां पर कल एक हथिनी का शव मिला था, जो गर्भवती भी थी। मृत हाथी प्यारे दल का ही सदस्य है, जो इस समय प्रतापपुर परिक्षेत्र के रिजर्व फारेस्ट 42 व 43 के मध्य विचरण कर रहा है। यह भी जानकारी मिल रही है कि इस मृत हाथी के समीप दल के अन्य सदस्य मौजूद हैं और वे लगातार चिंघाड़ते हुए आसपास डटे हुए हैं।