Home देश नीरव मोदी-माल्या को भगाने ​के लिए UPA सरकार जिम्मेदार: सीतारमण

नीरव मोदी-माल्या को भगाने ​के लिए UPA सरकार जिम्मेदार: सीतारमण

61
नीरव मोदी-माल्या को भगाने ​के लिए UPA सरकार जिम्मेदार: सीतारमण

नई दिल्ली : राफेल विमान सौदे को लेकर कांग्रेस और मोदी सरकार के बीच आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है। वहीं इसी बीच रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस नीत यूपीए सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि निजी बैंकों के फंसे कर्ज की समस्या के लिए यूपीए सरकार जिम्मेदार है।

बिना जांच पड़ताल के दिये गये कर्ज

सीतारमण ने भगोड़े कारोबारी विजय माल्या और नीरव मोदी की ओर इशारा करते हुये कहा कि बिना जांच पड़ताल के कर्ज दिये गये जिसके परिणाम स्वरूप कर्ज लेने वालों ने समय पर भुगतान नहीं किया और देश छोड़कर भाग गये। बैंकों के पास अब ऋण देने के लिए पैसे नहीं हैं। रक्षामंत्री कॉरपोरेट मामले और वित्त राज्यमंत्री रह चुकी हैं। इसके अलावा वह वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में भी काम कर चुकी हैं।

दिक्कतों का सामना कर रहे बैंक-

सीतारमण ने भाजपा के व्यापार प्रकोष्ठ की एक बैठक को संबोधित करते हुये कहा कि पिछली सरकार में एक फोन कॉल पर बैंकों द्वारा बड़े-बड़े कर्ज दिए गए। उन्होंने दावा किया कि तबसे लेकर आज तक यह कर्ज लौटाया नहीं गया। बैंकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा और उनके पास नए कारोबारों को कर्ज देने के लिए पैसे नहीं है।

फंसे कर्ज के लिए यूपीए सरकार जिम्मेदार-

रक्षामंत्री ने कहा कि इस कारण सार्वजनिक और निजी बैंकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। नीति के तहत बैंकों को ऋण देने की अनुमति है, लेकिन बैंक कर्ज देने के लिए तैयार नहीं हैं क्योंकि उनके पास पैसा नहीं है। ऐसा क्यों हुआ। उन्होंने आरोप लगाया कि बिना किसी आंकलन और जांच परख के परिचितों को ऋण बांटे गए। यह साठगांठ वाला पूंजीवाद है, जिसे पिछली संप्रग सरकार के कार्यकाल में अंजाम दिया गया।