Home राज्य छत्तीसगढ़ सामूहिक दवा सेवन एवं फाइलेरिया के कम्युनिकेशन कैंपेन का वर्चुअल उदघाटन, स्वास्थ्य...

सामूहिक दवा सेवन एवं फाइलेरिया के कम्युनिकेशन कैंपेन का वर्चुअल उदघाटन, स्वास्थ्य मंत्री ने खुद दवा लेकर इसकी शुरुआत की

45
सामूहिक दवा सेवन एवं फाइलेरिया के कम्युनिकेशन कैंपेन का वर्चुअल उदघाटन, स्वास्थ्य मंत्री ने खुद दवा लेकर इसकी शुरुआत की

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार ने फाइलेरिया रोग के सम्पूर्ण उन्मूलन के लिए आज सामूहिक दवा सेवन (मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन) कार्यक्रम का वर्चुअल उदघाटन किया। इसकी शुरुआत स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने औपचारिक रूप से फाइलेरिया की दवाएं स्वयं खाकर की। इस अवसर पर उन्होंने फाइलेरिया के सम्बन्ध में फिल्म अभिनेता मनोज वाजपेयी द्वारा लोगों को ऑडियो-विज़ुअल के माध्यम से दिए गए संदेशों का भी उद्घाटन किया। छत्तीसगढ़ सरकार फाइलेरिया रोग के सम्पूर्ण उन्मूलन हेतु पूर्ण रूप से प्रतिबद्ध है। इसी क्रम में छत्तीसगढ़ सरकार ने राष्ट्रीय फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत आज राज्य के फाइलेरिया प्रभावित तीन जिलों रायपुर, गरियाबंद एवं बलौदाबाजार में सामूहिक दवा सेवन कार्यक्रम को भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार शुरू किया है।

इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हमारी सरकार सभी की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए वचनबद्ध है। विशेषकर, वेक्टर जनित रोगों के उन्मूलन के लिए हम सब प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रहें हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि केंद्र स्तर, राज्य स्तर, ब्लॉक स्तर और ग्राम स्तर पर किए जा रहे समन्वित प्रयासों से राज्य से फाइलेरिया का सम्पूर्ण उन्मूलन सुनिश्चित होगा। उन्होंने यह भी कहा कि मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन कार्यक्रम के दौरान बूथ पर दवाएं खिलाए जाने के बाद लोगों को घर-घर जाकर दवाएं खिलाना सुनिश्चित करें ताकि कोई भी लाभार्थी छूट न जाए।

टीएस सिंहदेव ने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि हाइड्रोसील प्रकरणों का ऑपरेशन किया जाए एवं फाइलेरिया प्रकरणों का प्रबंधन किया जाए। इससे छत्तीसगढ़ जल्द से जल्द फाइलेरिया मुक्त राज्य बन सके। स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी कहा कि फाइलेरिया के सम्बन्ध में फिल्म अभिनेता मनोज वाजपेयी द्वारा लोगों को ऑडियो-विज़ुअल के माध्यम से दिए गए संदेशांे को अंतर विभागीय समन्वय बनाकर प्रत्येक संभावित प्लेटफार्म द्वारा प्रसारित करवाया जाए, जिससे जन-समुदाय में इन बीमारियों से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियां पहुंच सके।

ऐसे फैलता है फाइलेरिया, लक्षण भी जानें

इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संयुक्त संचालक डॉ. सुरेन्द्र पामभोई ने बताया कि फाइलेरिया रोग संक्रमित क्युलेक्स मच्छर के काटने से फैलता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के अनुसार फाइलेरिया, दुनिया भर में दीर्घकालिक विकलांगता के प्रमुख कारणों में से एक है। किसी भी आयु वर्ग में होने वाला यह संक्रमण लिम्फैटिक सिस्टम को नुकसान पहुंचाता है और अगर इससे बचाव न किया जाए तो इससे शारीरिक अंगों में असामान्य सूजन होती है। फाइलेरिया के कारण चिरकालिक रोग जैसे हाइड्रोसील (अंडकोष की थैली में सूजन), लिम्फेडेमा (अंगों की सूजन) व काइलुरिया (दूधिया सफेद पेशाब) से ग्रसित लोगों को अक्सर सामाजिक बहिष्कार का बोझ सहना पड़ता है, जिससे उनकी आजीविका व काम करने की क्षमता भी प्रभावित होती है।

दवा खाने से पहले ये जान लें

डॉ. सुरेन्द्र पामभोई के अनुसार फाइलेरिया रोधी दवाएं स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा घर-घर जाकर, अपने सामने मुफ्त खिलाई जाएगी एवं किसी भी स्थिति में, दवा का वितरण नहीं किया जाएगा। दवायए खाली पेट नहीं खाना है। 2 वर्ष से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती महिलाओं और अति गंभीर रूप से बीमार व्यक्तियों को फाइलेरिया रोधी दवाएं नहीं खिलाई जाएगी। डॉ. जगन्नाथ राव ने बताया कि सामूहिक दवा सेवन कार्यक्रम में सभी वर्गों के लगभग 54 लाख 14 हज़ार लाभार्थियों को फाइलेरिया से सुरक्षित रखने के लिए डीईसी. एवं अल्बंडाज़ोल की निर्धारित खुराक, स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा घर-घर जाकर, अपने सामने मुफ्त खिलाई जाएगी।